Not found

चंडीगढ़

पिछले साल 22 जून को खंदावली के 16 वर्षीय जुनैद की दिल्ली से ईद की खरीददारी करके लौटने के दौरान ट्रेन में सीट विवाद के चलते हुई हत्या के मामले में आरोपी रामेश्वर दास को हाई कोर्ट से जमानत मिल गई है। मामले के आरोपी रामेश्वर दास ने हाई कोर्ट से नियमित जमानत दिए जाने की मांग को लेकर दायर याचिका में बताया था कि यह मामला महज एक सीट के विवाद से जुड़ा है, जिसमें जुनैद की मौत हुई थी।

याचिका में बताया गया था कि ईद की खरीददारी कर लौट रहे जुनैद और उसके साथियों की ट्रेन में सफर कर रहे लोगों के साथ सीट को लेकर हुई कहासुनी हुई थी। इसके बाद इसने झगड़े का रूप ले लिया और उसने अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को बुला लिया जो अगले स्टेशन पर ट्रेन में चढ़ गए। याचिका में कहा गया है कि इसके बाद से झगड़ा शुरू हुआ जिसमें एक व्यक्ति ने रसोई वाले चाकू से उसपर हमला कर दिया जिसके चलते उसकी मौत हो गई।

जीआरपी ने इस मामले में पलवल निवासी रमेश, चंदर, प्रदीप और गौरव को गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही याचिकाकर्ता को भी गिरफ्तार किया गया जबकि उसका नाम एफआईआर में था ही नहीं। याचिकाकर्ता ने बताया कि उसकी उम्र 52 साल की है और वह झगड़े में भी शामिल भी नहीं था। इस मामले के अन्य आरोपियों को जमानत मिल चुकी है। बावजूद इसके उसे अभी तक जमानत नहीं दी गई। वह जून से ही जेल में है, लिहाजा उसे भी जमानत दी जाए। हाई कोर्ट ने याचिका को स्वीकार करते हुए रामेश्वर दास को जमानत दे दी।

मूवी मसाला

फैशन

हेल्थ

Slider

क्राइम

मेडिकल

फोटो गैलरी

टूरिजम

सर्वे

Slider

एडिटोरियल

जोक्स